Breaking
Loading...

अच्छी सेहत के लिए करें ये 7 योग मुद्रा (These 7 Yoga Mudras for Good Health)

 योग अब भारत से निकल कर दूर दूर दूसरे दूसरे देशों तक पहुंच गया है और योग की बढ़ती हुई लोकप्रियता को देखते हुए हम आपको बताएंगे योगा के वो 7 मुद्रा आसन। योग आपके शरीर में शक्ति को बनाए रखने के लिए और गंभीर बीमारियों से लड़ने में मदद करता है।  हम आपको आज योग कि 7 मुद्राओं के बारे में बताएंगे।

अच्छी सेहत के लिए करें ये 7 योग मुद्रा (These 7 Yoga Mudras for Good Health)




  • ज्ञान मुद्रा (gyaan mudra)
  • वायु मुद्रा (vaayu mudra)
  • पृथ्वी मुद्रा (prthvee mudra)
  • अग्नि मुद्रा (agni mudra)
  • वरुण मुद्रा (varun mudra)
  • शून्य मुद्रा (shoony mudra)
  • प्राण मुद्रा (praan mudra)







 ज्ञान मुद्रा  (gyaan mudra)
यह मुद्रा आप में ज्ञान बढ़ाने में मदद करती है आपकी याददाश्त को बढ़ाती है और उसमें सुधार लाती है यह आपको ध्यान केंद्रित करने में मदद करती है यह आपको आराम करने और बेहतर ध्यान में भी सहायता करती है यह आपके तनाव को दूर करती है और आपको सभी चिंताओं से मुक्त करती है यह जीवन में संतुलित रहने में आपकी मदद करती है  यह आपके मानसिक तेज को बढ़ा देती है











वायु मुद्रा (vaayu mudra)
वाइ मुद्रा को गैस मुक्त रखने में मदद करती है और आपके पेट की अतिरिक्त हवा को निकालने में मदद करती है यह आपके शरीर से हवा को रिहा करने में मदद करती है यह आपका मन अगर चिंतित है बेचैन है अति उत्साहित हैं और आपका शरीर विभिन्न हार्मोनल असंतुलन महसूस कर रहा है तो यह आपके मन को और शरीर को संतुलन करने में मदद करती है यह मुद्रा करने से शरीर को और भी बहुत सारे फायदे होते हैं











पृथ्वी मुद्रा (prthvee mudra)
पृथ्वी मुद्रा आपके रक्त प्रवाह को बेहतर बनाने में मदद करती है और कमजोरी को दूर करती है यह मुद्रा आपकी पाचन शक्ति को बढ़ाती है और अगर आप अपने बालों के बारे में चिंतित हैं तो पृथ्वी मुद्रा कूप कोशिकाओं को सक्रिय करके बालों को पुन उत्पन्न करने में मदद करेगा यह वजन कम करने अपने ऊतकों, हड्डियों, उपास्थियों, मास, त्वचा,और मांसपेशियों को मजबूत करने में मदद कर सकता है यह असर को कम करता है यह हमारे शरीर में उत्तेजना को कम करता है









अग्नि मुद्रा (agni mudra)
यह थायराइड ग्रंथी को उत्तेजित करती है पाचन शक्ति को मजबूत बनाती है यह आपके वजन का संतुलन करती हैं और चिंता को भगाने में मदद करती है अग्नि मुद्रा विशेष रूप से महत्वपूर्ण है जब आपके शरीर का तापमान असामान्य रूप से कम हो, आपकी त्वचा, शरीर, अंग औऱ हाथों की शीतलता को नियंत्रित करने की आवश्यकता हो जब आप ठंड के मौसम से जूझने में सक्षम नहीं होते जब आपको अपने पाचन क्रिया को ठीक करना हो और अपनी भूख और कब्ज को ठीक करना हो











वरुण मुद्रा (varun mudra)
यह मुद्रा शरीर में तरल पदार्थों को भी विनियमित करने में मदद करती है यह हमारी त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद होती है वरुण मुद्रा आपके शरीर में पानी की मात्रा को संतुलित करती है और आपके शरीर में पानी की कमी नहीं होने देती यह शरीर में पानी का स्तर ठीक करके खून को साफ बनाए रखने में मदद करती है यह आपकी त्वचा चमकदार और चिकनी बनाती है मधुमेह से राहत दिलाती है यह मुद्रा गुर्दों और यकृत को स्वस्थ रखती है












शून्य मुद्रा (shoony mudra)
शून्य मुद्रा उन लोगों के लिए फायदेमंद है जिनको साफ साफ सुनने में परेशानी होती है इसका उपयोग कानों के उपचारों के लिए किया जाता है कान में शोर और आंशिक या पूर्ण बहरापन। यह यात्रा में होने वाली पाचन संबंधी दिक्कतों को दूर करने में भी आपकी मदद करती है










प्राण मुद्रा (praan mudra)
प्राण मुद्रा प्रतिक्षा में सुधार लाती है शरीर को ताजा करती है और आपके शरीर की ऊर्जा को बनाए रखती है यह शरीर की जीवन शक्ति और रोग प्रतिरोधक शक्ति को भी बढ़ाती है यह मुद्रा आपके रक्त संचार में रुकावट को कम करती हैं यह आपकी आंखों को स्वस्थ रखने में काफी फायदेमंद है विटामिन की कमी को पूरा करती है यह एकाग्रता शक्ति को बेहतर बनाने और नींद में सुधार लाने में भी मदद  करती है

 धन्यवाद


No comments:

Post a Comment